Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium

Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium – Hello friends Welcome To StudyDhaba.Com .Here We are Sharing Uttar Pradesh general Knowledge In Hindi medium For Upcoming Exams.

Download Free Study Material IBPS

Many readers From Uttar pradesh requested Us For Uttar pradesh General Knowledge .Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium

To Download This File Click On The Download- Download Now 

Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium

Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium

Section Details

प्राचीन काल

  • उत्तर प्रदेश का ज्ञात इतिहास लगभग 4000 वर्ष पुराना है, जब आर्यों ने अपना पहला कदम इस जगह पर रखा। इस समय वैदिक सभ्यता का प्रारम्भ हुआ और उत्तर प्रदेश में इसका जन्म हुआ। इन्हीं आर्यों के नाम पर भारत देश का नाम आर्यावर्त या भारतवर्ष पड़ा।
  • संसार के प्राचीनतम शहरों में एक माना जाने वाला वाराणसी शहर यहीं पर स्थित है।
  • सातवीं शताब्दी ई. पू. मेंं 16 महाजनपदों में से सात वर्तमान उत्तर प्रदेश की सीमा के अंतर्गत थे।
  • बुद्ध ने अपना पहला उपदेश वाराणसी (बनारस) के निकट सारनाथ में दिया और एक ऐसे धर्म की नींव रखी, जो न केवल भारत में, बल्कि चीन व जापान जैसे सुदूर देशों तक भी फैला।
  • इस काल के महान शासकों में चन्द्रगुप्त प्रथम व अशोक जो मौर्य सम्राट थे और समुद्रगुप्त ,चन्द्रगुप्त द्वितीय(विक्रमादित्य) तथा हर्षवर्धन थे। जिन्होंने कान्यकुब्ज (आधुनिक कन्नौज के निकट) स्थित अपनी राजधानी से समूचे उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान के कुछ हिस्सों पर शासन किया।.Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium

मध्य काल

  • इस क्षेत्र में हालाँकि 1000-1030 ई. तक मुसलमानों का आक्रमण हो चुका था, किन्तु उत्तरी भारत में 12वीं शताब्दी के अन्तिम दशक के बाद ही मुस्लिम शासन स्थापित हुआ
  • 1526 ई. में बाबर ने दिल्ली के सुलतान इब्राहीम लोदी को हराया और सर्वाधिक सफल मुस्लिम वंश, मुग़ल वंश की नींव रखी।
  • इस साम्राज्य ने 350 वर्षों से भी अधिक समय तक उपमहाद्वीप पर शासन किया।
  • इस साम्राज्य का महानतम काल अकबर से लेकर औरंगजेब आलमगीर का काल था, जिन्होंने आगरा के पास नई शाही राजधानी फ़तेहपुर सीकरी का निर्माण किया।
  • उनके पोते शाहजहाँ ने आगरा में ताजमहल बनवाया, जो विश्व के महानतम वास्तुशिल्पीय नमूनों में से एक है।
  • शाहजहाँ ने आगरा व दिल्ली में भी वास्तुशिल्प की दृष्टि से कई महत्त्वपूर्ण इमारतें बनवाईं थीं।

आधुनिक काल

  • लगभग 75 वर्ष की अवधि में उत्तर प्रदेश के क्षेत्र का ईस्ट इण्डिया कम्पनी ने धीरे-धीरे अधिग्रहण किया।
  • 1856 ई. में कम्पनी ने अवध पर अधिकार कर लिया और आगरा एवं अवध संयुक्त प्रान्त के नाम से इसे 1877 ई. में पश्चिमोत्तर प्रान्त में मिला लिया गया। 1902 ई. में इसका नाम बदलकर संयुक्त प्रान्त कर दिया गया।
  • 10 मई 1857 ई. को मेरठ में सैनिकों के बीच भड़का विद्रोह कुछ ही महीनों में 25 से भी अधिक शहरों में फैल गया।
  • 1922 में भारत में ब्रिटिश साम्राज्य की नींव हिलाने के लिए किया गया महात्मा गांधी का असहयोग आन्दोलन पूरे संयुक्त प्रान्त में फैल गया, लेकिन चौरी चौरा गाँव में हुई हिंसा के कारण महात्मा गांधी ने अस्थायी तौर पर आन्दोलन को रोक दिया।

स्वतन्त्रता संग्राम

  • सन १८५७ में अंग्रेजी फौज के भारतीय सिपाहियों ने विद्रोह कर दिया। यह विद्रोह एक साल तक चला और अधिकतर उत्तर भारत में फ़ैल गया।
  • इस विद्रोह का प्रारम्भ मेरठ शहर में हुआ। इस का कारण अंग्रेज़ों द्वारा गाय और सुअर की चर्बी से युक्त कारतूस देना था। इस संग्राम का एक प्रमुख कारण डलहौजी की राज्य हड़पने की नीति भी थी।
  • इस लड़ाई में झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई..

 

Uttar pradesh Geography Notes hindi Medium -Location ,Climate,Economy,Agriculture Etc

Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium

SectionDetails

जलवायु एवं मौसम

  • पूरे भारत में उत्तर प्रदेश का क्षेत्रफल 33 प्रतिशत है।
  • उत्तर प्रदेश को 8 राज्यों एवं एक केन्द्रशासित राज्य की सीमाएं स्पर्श करती हैं।
  • उत्तर प्रदेश के उत्तर में शिवालिक पर्वत श्रेणी का विस्तार है।
  • उत्तर प्रदेश के दक्षिण में विन्ध्य पर्वत श्रेणी का विस्तार है।
  • गोंडवाना लैंड उत्तर प्रदेश की प्राचीनतम भू-खण्ड का एक भाग है।
  • उत्तर प्रदेश के दक्षिण में स्थित पठारों का निर्माण विन्ध्य क्रम की शैलों से हुआ।
  • गंगा-यमुना मैदान में नवीन कॉप निक्षेपों को खादर कहा जाता है।
  • गंगा-यमुना मैदान में प्राचीन कॉप निक्षेपों को बांगर कहा जाता है।
  • तराई क्षेत्र का वह उत्तरी भाग, जहां ककड़-पत्थर और मोटे बालू के निक्षेप मिलते हैं, उन्हें भॉंवर क्षेत्र कहा जाता है।Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium
  • तराई क्षेत्र की भूमि समतल, नम, दलदली होती है।
  • उत्तर प्रदेश का विशाल मैदानी क्षेत्र यमुना और गंडक नदियों के मध्य अवस्थित है।
  • बीहड़ों का निर्माण चम्बल और यमुना नदियों के किनारों पर हुआ है।
  • बुंदेलखंड पठार की औसत ऊंचाई 300 मीटर है।
  • प्रसिद्ध विन्डम जल प्रपात मिर्जापुर में है।
  • चम्बल बेतवा और केन यमुना नदी में दाहिने की छोर पर मिलती हैं
  • भारत में मृदा अवनालिका क्षरण से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र चम्बल घाटी है।

वनस्पति संपदा

  • राज्य के कुल वन क्षेत्र का 97 प्रतिशत खुला, 31.70 प्रतिशत सघन एवं 11.30 प्रतिशत सघन वन क्षेत्र है।
  • प्रदेश में सोनभद्र जिले के कुल क्षेत्रफल का 43 प्रतिशत वन क्षेत्र है।
  • प्रदेश के संत रविदास नगर जिले में सबसे कम भू-भाग में वन क्षेत्र है।
  • सर्वाधिक वन प्रतिशत वाले पांच जिले घटते क्रम में इस प्रकार हैं – सोनभद्र, चंदौली, पीलीभीत, मिर्जापुर और चित्रकूट।
  • सबसे कम प्रतिशत वाले जिले भदोही, संतकबीर नगर, मऊ, मैनपुरी व देवरिया हैं।
  • प्रदेश में अति सघन वन क्षेत्र का सर्वाधिक क्षेत्रफल खीरी जिले का है।
  • प्रदेश में जड़ी-बूटी एवं तेंदु पत्ते का संग्रहण उत्तर प्रदेश वन निगम द्वारा कराया जाता है।
  • सामाजिक वानिकी का यूकेलिप्टस वृक्ष भूमि के लिए घातक है।
  • राज्य सरकार द्वारा भारतीय वन अधिनियम 1977 को संशोधित कर भारतीय वन (उ.प्र. संशोधन)अधिनियम 2000 वर्ष 2001 में लागू किया गया।
  • उत्तर प्रदेश की प्रथम वन नीति 1952 में और द्वितीय वन नीति 1998 में घोषित की गयी।
  • खुले वन क्षेत्र का सर्वाधिक क्षेत्रफल सोनभद्र जिले का है।
  • वृच्छादन में देश में उत्तर प्रदेश का चौथा स्थान है।
  • सामान्यत: उत्तर प्रदेश में उष्णकटिबन्धीय वन पाये जाते हैं।
  • प्रदेश में सामाजिक वानिकी योजना 1976 में शुरू की गयी।

वन्य जीव

  • प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित वन्य जीव संरक्षण के 24 केन्द्र हैं।
  • चन्द्रप्रभा वन्य जीव बिहार प्रदेश का सबसे पुराना वन्य जीव विहार है।
  • हस्तिनापुर वन्य जीव विहार, मेरठ, मुजफरनगर, प्रदेश का सबसे बड़ा वन्य जीव विहार है।
  • महावीर स्वामी वन्य जीव विहार ललितपुर, प्रदेश का सबसे छोटा वन्य जीव विहार है।
  • पटना पक्षी विहार एटा सबसे छोटा पक्षी विहार है।
  • लोकनायक पक्षी विहार बलिया में स्थित है।
  • उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान राष्ट्रीय चम्बल वन्य विहार योजना में शामिल हैं।
  • दुधवा राष्ट्रीय उद्यान में बारहसिंघा की सेरवन डुआलिसी दुर्लभ प्रजाति पायी जाती है।
  • डिक्लोफेनिक रसायन गिद्धों के असामयिक मृत्यु का कारण है।

मृदा एवं खनिज

  • गंगा के विशाल मैदानका निर्माण प्लीस्टोसीन युग से आज तक नदियों के निक्षेपों से हुआ है।
  • उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा जलोढ़ मिट्टी के पायी जाती है।
  • नवीन एवं प्राचीन जलोढ़ मृदा को खादर, बांगर के नाम से जाना जाता है।
  • जलोढ़ मृदा का निर्माण कांप, कीचड़ और बालू से हुआ है।
  • जलोढ़ मृदा में पोटाश एवं चूना (रसायन) की प्रचुरता रहती है।
  • जलोढ़ मृदा में फॉस्फोरस, नाइट्रोजन एवं जैव तत्व की कमी रहती है।
  • मृदा के खनिज, जैव पदार्थ, जल तथा वायु चार प्रमुख घटक हैं।
  • लवणीय एवं क्षारीय मृदा को सामान्यत: ऊसर या बंजर या कल्लर या रेह के नाम से जाना जाता है।
  • विन्ध्य शैलों के टूटने से लाल मृदा का निर्माण हुआ।
  • प्रदेश में मरुस्थलीय मृदा कुछ पश्चिमी जिलों में पायी जाती हैं।
  • लाल, परवा, मार, राकर, तथा भोण्टा आदि बुंदेलखंड की मुद्राएं हैं।
  • उत्तर प्रदेश जलीय अपरदन का मृदा अपरदन अधिक होता है।
  • परत अपरदन को ‘किसान की मौत’ कहा जाता है।
  • प्रदेश का इटावा जिला अवनलिका अपरदन से अधिक प्रभावित है।
  • ग्रीष्म ऋतु में सर्वाधिक वायु अपरदन होता है।
  • पश्चिमी उत्तर प्रदेश, प्रदेश में वायु अपरदन से सर्वाधिक प्रभावित है।

जलीय संसाधन एवं नदियाँ

  • प्रदेश के मैदानी भाग में समान्तर अपवाह तंत्र पाया जाता है।
  • उद्गम स्रोतों के आधार पर प्रदेश में तीन प्रकार की नदियां पायी जाती है।
  • भागीरथी और अलकनंदा नदियों का मिलन देव प्रयाग में है।
  • काली का उद्गम स्थल मिलम हिमनद में है।
  • गंगा से रामगंगा बायीं ओर से, कन्नौज के पास मिलती है।
  • गंगा उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में प्रवेश करती है और जिला बलिया से बाहर निकलती है।
  • यमुना उत्तर प्रदेश के फैजाबाद (सहारनपुर) में सर्वप्रथम प्रवेश करती है।
  • रामगंगा प्रदेश के कालागढ़ (बिजनौर) पर सर्वप्रथम प्रवेश करती है।
  • घाघरा (करनाली) का उद्गम स्थल मापचा चुंगों है।

Uttar Pradesh General Knowledge Pdf Hindi Medium